The cables of a mobile tower snapped at a Jalandhar village.

तीन कृषि कानूनों (New Farm Law) का विरोध कर रहे किसानों ने पंजाब (Punjab) में 1,500 से अधिक मोबाइल टावर तोड़े हैं, जिससे कुछ क्षेत्रों में दूरसंचार सेवाएं प्रभावित हुई हैं. सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी. किसानों का मानना है कि नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) से अरबपति उद्योगपतियों को सबसे अधिक फायदा होगा. इसलिए उनका गुस्सा मोबाइल टावरों पर निकल रहा है. राज्य में कई हिस्सों में इन टावरों को बिजली की आपूर्ति रोक दी गई है और साथ ही केबल भी काट दी गई है.

मामले की जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने कहा, ‘‘कल तक 1,411 टावरों को नुकसान पहुंचाया गया था. आज यह आंकड़ा 1,500 के पार हो गया है.’’ जालंधर में जियो की फाइबर केबल के कुछ बंडल भी जला दिए गए हैं. राज्य में जियो के 9,000 से अधिक टावर हैं. एक अन्य सूत्र ने कहा कि टावर को नुकसान पहुंचाने का सबसे आम तरीका बिजली की आपूर्ति काटना है.

एक मामले में टावर साइट पर जेनरेटर को लोग उठाकर ले गए और उसे एक स्थानीय गुरुद्वारे में दान कर दिया. कुछ जियो कर्मचारियों को धमकाने और उनके भागने का वीडियो भी वायरल है. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शुक्रवार को आंदोलनकारी किसानों से अपील की थी कि वे ऐसा कोई कदम नहीं उठाएं जिससे आम लोगों को परेशानी हो.

सूत्रों ने कहा कि राज्य पुलिस ने टावर तोड़ने वाले लोगों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है और ज्यादातर मामलों में कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई है. टावर इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोवाइडर्स एसोसिएशन (टीएआईपीए) ने कहा है कि कम से 1,600 टावरों को नुकसान पहुंचाया गया है.