दुमका में गैंगरेप की शर्मनाक वारदात ने पूरे देश को दहलाकर रख दिया है। झारखंड में रेप की लगातार वारदात के बाद सवाल तो यहां तक उठ रहे हैं कि हेमंत सोरेन सरकार आखिर कर क्या रही है। विपक्षी बीजेपी ने तो पूरी ताकत से मशीनरी पर हमला बोल दिया है। सवाल ये उठ रहे हैं झारखंड रेप प्रदेश क्यों बनता जा रहा है। क्यों बलात्कारी मानसिकता वालों के मन से पुलिस का खौफ ही खत्म हो गया है। झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार कड़े कदम उठाने से परहेज क्यों कर रही है?

‘हेमंत सरकार में अब तक 1300 से ज्यादा रेप’
भारतीय जनता पार्टी (BJP) की वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री लुइस मरांडी ने दुमका के मुफस्सिल थाना क्षेत्र में एक आदिवासी महिला के साथ 17 युवकों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म की घटना पर चिंता जताते हुए कहा है कि राज्य में बलात्कार की घटना कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं, इस कारण ने पूरे देश को झारखंड ने एक बार फिर से शर्मसार किया है।

लुइस मरांडी ने कहा कि मंगलवार को हाट से लौट रहे दंपति को युवकों ने बंधक बना लिया। घर से कुछ दूरी पर ही सूनसान इलाके में अपराधियों ने महिला के साथ घटना को अंजाम दिया। उन्होंने कहा कि अपराधियों ने शाम सात बजे से बारी-बारी से करीब 12 बजे रात तक महिला के साथ दुष्कर्म किया। मरांडी ने कहा कि हेमंत सोरेन की सरकार बनने के बाद जिस तरह से संथाल परगना में आये दिन आदिवासी बच्ची, महिला, साध्वी से जिस तरह की बर्बरतापूर्ण अमानवीय घटना हो रही है उससे संथाल परगना की महिलाओं में डर का माहौल है। कोई भी माता-पिता अपने बच्चियों को घर से बाहर बाजार-हाट भेजने में कतरा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि हेमंत सोरेन की सरकार बनाने के बाद 1300 से भी अधिक दुष्कर्म की घटनाएं हुई है। कुल आंकड़ा देखा जाए तो प्रतिदिन 5 महिलाओं के साथ दुष्कर्म की घटना सामने आ रही है। उन्होंने कहा कि बीजेपी मांग करती है कि पीड़िता का 164 का बयान लिया जाए साथ ही पीड़ित महिला की मेडिकल बोर्ड के मध्यम से जांच कराई जाए। पीड़ित महिला और उसके परिवार को पूर्ण सुरक्षा उपलब्ध कराई जाए। पीड़िता को सरकारी आर्थिक सुविधा भी उपलब्ध कराई जाए।

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने भी हेमंत सरकार को घेरा
वारदात को लेकर झारखंड बीजेपी अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश ने तीखा ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है कि ‘कब तक महिलाओं की आबरू इस तरह से लूटी जाएगी ? कब तक मुख्यमंत्री मौनी बाबा बने रहेंगे ? जब से यह सरकार आई है तब से राज्य में हर तरह की आपराधिक गतिविधियां बढ़ गई है लेकिन सरकार सिर्फ उगाही और अवैध खनन में लगी हुई है।’

उधर गैंगरेप की इस शर्मनाक वारदात को बीजेपी ने पूरी तरह से मुद्दा बना लिया है। आज ही सुबह 11 बजे से रांची के मोरहाबादी में बापू की प्रतिमा के समक्ष और दुमका में सिद्धो-कान्हू मुर्मू की प्रतिमा के समक्ष बीजेपी कार्यकर्ता धरना दे रहे हैं।

गैंगरेप से थर्राया दुमका
झारखंड में दुमका जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र में पति के साथ मेला देखकर घर लौट रही पांच बच्चों की मां के साथ सामूहिक दुष्कर्म किए जाने का मामला सामने आया है। मामला मंगलवार की देर रात उस समय का है जब महिला मेला देखकर लौट रही थी। संताल परगना क्षेत्र के पुलिस उपमहानिरीक्षक सुदर्शन प्रसाद मंडल ने मीडिया कर्मियों से बातचीत में घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है। साथ ही घटना में संलिप्त आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

इससे पहले डीआईजी के साथ पुलिस अधीक्षक अंबर लकड़ा ने घटना की सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारियों ने मुफस्सिल थाना पहुंचे कर घटना के संबंध में जानकारी ली और पीड़ित महिला के बयान के आधार पर मामले की त्वरित जांच पड़ताल कर संलिप्त आरोपियों को अविलंब गिरफ्तार करने का निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि पीड़िता को मेडिकल जांच के लिए भेज दिया गया है।

पीड़ित महिला ने की एक आरोपी की पहचान
उपमहानिरीक्षक सुदर्शन प्रसाद मंडल ने बताया कि संलिप्त आरोपियों की पहचान की जा रही है। पीड़िता का मेडिकल कराया गया है। मेडिकल जांच रिपोर्ट आने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। महिला ने पुलिस को दिए बयान में घटना में 17 आरोपियों के संलिप्त होने की बात बतायी है, जिसमें से एक आरोपी को वो पहचानती है, जो उसी के गांव का रहने वाला बताया जाता है।

पीड़िता के पति को पांच आरोपियों ने पकड़ लिया था
पीड़िता के पति ने बताया कि गांव में हर मंगलवार को बाजार लगता है। जहां वो अपनी पत्नी के साथ खरीददारी करने गया था। खरीददारी कर करीब 8 बजे बाजार से घर लौट रहा था। तभी रास्ते में नशे में धुत करीब 17 लड़के खड़े थे। उनमें से पांच लड़कों ने उसे पकड़ा और बाकी लड़के पत्नी को उठाकर झाड़ियों की तरफ ले गये। जहां दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया।

मंगलवार को मेला देखकर लौट रही थी महिला
पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, दुमका मुफस्सिल थाना क्षेत्र में पांच बच्चे की मां पीड़ित महिला अपने पति के साथ मंगलवार को सामान खरीदने साप्ताहिक हाट गयी थी। उसी गांव में मेला का भी आयोजन किया गया था। देर रात मेला से लौटते समय कुछ मनचलों ने पति को कब्जे में लेकर महिला से गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। बुधवार की सुबह पीड़िता ने पति के साथ थाने पहुंचकर घटना की जानकारी पुलिस को दी।